भौतिक व विश्व भूगोल (Worldly Geography)

No comments exist

भौतिक व विश्व भूगोल (Worldly Geography)

भौतिक व विश्व भूगोल
* सूर्य के चारों ओर अंडाकार मार्ग में परिक्रमा करने वाले ग्रहों, उपग्रहों, पुच्छल तारे, उल्का आदि के समूह को सौरमंडल कहते हैं|
* सूर्य के दूरी के अनुसार ग्रहों का क्रम- बुध, शुक्र, पृथ्वी, बंगाल, बृहस्पति, शनि, अरुण, वरुण और कारला (नौवां ग्रह)|
* आकार के अनुसार ग्रहों का क्रम- बृहस्पति, शनि, अरुण, वरुण, पृथ्वी, शुक्र, मंगल और बुध|
* पृथ्वी से दूरी के अनुसार ग्रहों का क्रम- पृथ्वी शुक्र, मंगल, बुध, बृहस्पति, शनि, अरुण, वरुण और कारला|
* सौर मंडल में बृहस्पति के 63, शनि के 60, अरुण के 27, वरुण के 13, मंगल के 2, और पृथ्वी का एक उपग्रह है|
* सूर्य- मंडल का जनक है| इसका व्यास 13,93,000 किलोमीटर है और पृथ्वी से 109 गुना बड़ा है तथा इसका भार 2.19 X (10)270 टन है| इसके ताल का तापमान 6,000 C है|
* सूर्य के सभी ग्रहों का प्रकाश व उष्मा प्राप्त होती है| सूर्य का प्रकाश 14.96 करोड़ किलोमीटर दूर स्थित पृथ्वी तक आने में लगभग 8 मिनट लगते हैं| सूर्य के काले धब्बे का तापमान लगभग 1,500 C होता है अर्थात ये सूर्य के ठंडे क्षेत्र हैं|
* बृहस्पति सौरमंडल का सबसे बड़ा ग्रह है|1 इसका व्यास 1,38,081 किलोमीटर है| यह सूर्य से 77.83 करोड़ किलोमीटर दूर स्थित है| यह सूर्य की परिक्रमा 11.86 साल में पूरी करता है
और 9 घंटे 50 मिनट 30 सेकंड में अपनी धुरी पर चक्कर लगाता है| इसके 63 उपग्रह है|
* बृहस्पति के बाद सौरमंडल का दूसरा सबसे बड़ा ग्रह शनि है| इसका ब्यास 1,20,500 किलोमीटर है| यह सूर्य से 142.7 करोड़ किलोमीटर दूर है| यह सूर्य की परिक्रमा 30 वर्ष में करता है और 10 घंटे 14 मिनट में अपनी धुरी पर एक चक्कर लगाता है| इसके सर्वाधिक 60 उपग्रह है|
* अरुण शनी के बाद तीसरा बड़ा ग्रह है| इसका व्यास 51,400 किलोमीटर है| अरुण सूर्य से 287 करोड़ किलोमीटर दूर है| यह सूर्य की परिक्रमा
84.01 वर्ष में करता है और अपनी धुरी पर 17 घंटे 24 मिनट में एक चक्कर पूरा करता है| इसके 27 उपग्रह है| यह पृथ्वी की विपरीत दिशा में चक्कर लगाता है|
* वरुण आकार की दृष्टि से चौथा बड़ा ग्रह है इसका व्यास 48,600 किलोमीटर है| यह सूर्य से 497.06 करोड़ किलोमीटर दूर है| वरुण सूर्य की परिक्रमा 164.8 वर्ष में पूरी करता है और अपनी धुरी पर 16 घंटे में| इसके कुल 13 उपग्रह है|
* पृथ्वी सौरमंडल का पांचवा बड़ा ग्रह है| इसका व्यास 12,756 किलोमीटर है| यह सूर्य 14.96 करोड़ किलोमीटर दूर स्थित है| यह सूर्य की परिक्रमा 365.26 दिन में और अपनी धुरी पर 23 घंटा 56 मिनट व 4 सेकंड में पूरा चक्कर लगाती है| चंद्रमा इसका एकमात्र उपग्रह है|
* शुक्र पृथ्वी से छोटा हुआ पृथ्वी के सबसे निकट का ग्रह है| इसका व्यास 12,102 किलोमीटर है| यह सूर्य से 10.82 करोड़ किलोमीटर दूर है| शुक्र सूर्य की परिक्रमा 224.7 दिन में पूरी करता है और अपनी धुरी पर 243 दिन में एक चक्कर पूरा करता है| शुक्र का कोई उपग्रह नहीं है| यह अरुण की भांति पृथ्वी की विपरीत दिशा में चक्कर लगाता है|
* मंगल ग्रह शुक्र ग्रह से छोटा है| इसका व्यास 6787 किलोमीटर है| मंगल सूर्य से 22.79 करोड़ किलोमीटर दूर है| इसे सूर्य की परिक्रमा करने में 687 दिन लगते हैं औरत 24 घंटे 39 मिनट और 35 सेकंड में अपनी धुरी पर एक परिक्रमा पूरी करते हैं| मंगल के दो उपग्रह है|
* बुध सूर्य के सबसे निकट का ग्रह है| इसका व्यास 4,878 किलोमीटर है| यह सूर्य से 5.79 करोड़ किलोमीटर दूर है| इसे सूर्य की परिक्रमा करने में 88 दिन लगते हैं और अपनी धुरी पर एक चक्कर लगाने में 58 दिन लगते हैं| इसका कोई उपग्रह नहीं है|
* सौर मंडल के एक ग्रह की संयुक्त राज्य अमेरिका के नासा अनुसंधान शाला के वैज्ञानिकों ने 1987 ईस्वी में एक खोज की थी| यह सूर्य की परिक्रमा 700 वर्षों में पूरा करेगा और इसका भार पृथ्वी से 5 गुना अधिक है| इस ग्रह के गुरुत्व का अरुण और वरुण पर प्रभाव कक्षीय विभिंता समझा सकेगा
* कारला हाल ही में ज्ञात किया गया गया है|
* चंद्रमा पृथ्वी का उपग्रह है| यह पृथ्वी से 3,84,400 किलोमीटर की दूरी पर है| इसका व्यास 3,476 किलोमीटर है| या पृथ्वी की परिक्रमा 27 दिन 7 घंटे 45 मिनट व 11.47 सेकंड में और घूर्णन 27 दिन 7 घंटे 43 मिनट व 11.47 सेकंड में पूरा करता है| चंद्रमा पर दिन का तापमान 100 डिग्री सेल्सियस और रात्रि का तापमान — 180 डिग्री सेल्सियस रहता है| चंद्रमा पर सर्वप्रथम पहुंचने वाले व्यक्ति नील आर्मस्ट्रांग थे| सबसे ऊंचा स्थान लीवनिट्ज पर्वत है, जो 35,000 फिट ऊंचा है|
* धूमकेतु या पुच्छल तारे सौर मंडल के सबसे अधिक उत्केंद्रित कक्षा वाले सदस्य हैं| जो सूर्य के चतुर्दिक लंबी किंतु अनियमित कक्षा में घूमते हैं| यह आकाशीय धूल, बर्फ और हिमानी गैसों से बने पिंड हैं| जो सूर्य से दूर ठंडे अंधेरे क्षेत्र में रहते हैं| 1986 में हैली पुच्छल तारा देखा गया था|
* अवांतर ग्रह मंगल और बृहस्पति ग्रहों के मध्य लंबे भाग में 2,000 से अधिक छोटे-छोटे उपग्रह जैसे आकाशीय पिंड है| इनमें सीरीस, प्लाश, जूनो वेस्टा आदि चर्चित रहे हैं आदि चर्चित रहे हैं
* उल्का अंतरिक्ष में परिभ्रमण करते धूल और गैस पिंड जब पृथ्वी के पास से गुजरते हैं, तो पृथ्वी के गुरुत्वाकर्षण के कारण तेजी से पृथ्वी की ओर आते हैं और पृथ्वी के वायुमंडल में आकर घर सबसे चमकने लगते हैं जो पृथ्वी तक पहुंचने से पूर्व ही जलकर राख हो जाते हैं| कुछ पिंड वायुमंडल के घर्षण से पूर्णतः चल नहीं पाते और चट्टानों के रूप में पृथ्वी पर आकर गिरते हैं इन्हें उल्काश्म कहते हैं|
* पृथ्वी गोलाकार है पृथ्वी की इस आकृति को Oblate Spheroid कहते हैं|
* पृथ्वी का भूमध्यरेखिये ब्यास 12756 किलोमीटर है और ध्रुवीय ब्यास 12713 किलोमीटर है|
* पृथ्वी की भूमध्य रेखीय परिधि 40,075 किलोमीटर और ध्रुवीय परिधि 40000 किलोमीटर है|
* पृथ्वी का पृष्ठीय क्षेत्रफल 51,01,00,500 वर्ग किलोमीटर है|
* पृथ्वी पर 29 प्रतिशत क्षेत्र पर स्थल खंड व 71 प्रतिशत क्षेत्र पर जलमंडल है|
* पृथ्वी सूर्य के चतुर्दिक एक अंडाकार मार्ग पर 365 दिन 5 घंटे 48 मिनट और 46 सेकंड में 1,07,280 किलोमीटर प्रति घंटे की गति से एक परिक्रमा करती है| इसे परिक्रमण कहते हैं| परिक्रमण के कारण ऋतु परिवर्तन होते हैं|
* पृथ्वी अपनी धुरी पर पश्चिम से पूर्व 1,610 किलोमीटर प्रति घंटे की गति से 23 घंटे 56 मिनट और 4.09 सेकंड में एक पूरा चक्कर करती है| इसे घूर्णन कहते हैं| इस कारण पृथ्वी पर रात दिन होते हैं| हेलो कैसे हो

1,402 total views, 1 views today

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *